How Bangladesh became the textile industry बांग्लादेश कैसे बना कपड़ा उद्योग

How Bangladesh became the textile industry : आज मैं आप सभी को इस लेख में Bangladesh के बारे में बताऊंगा। कैसे बना Bangladesh Textile King. आज के समय में बांग्लादेश दुनिया में बहुत ही सारी चीजों के बारे में जाना जाता है, बांग्लादेश की बात करें तो उसमें से एक ऐसी इंडस्ट्रियल जो बांग्लादेश को सबसे आगे खड़ा करता है,वह है Textile Industry.

How Bangladesh became the textile industry
How Bangladesh became the textile industry

Textile Industry

Textile industry Bangladesh में बहुत बड़ी Industry है, साल 2021 में 35.8 बिलियन डॉलर इन्होंने अपने कंट्री से एक्सपोर्ट किया था। एक करोड़ से ज्यादा लोगों को जॉब दिया करते है। वे अपने देश के ऐसे इंडस्ट्री में, आज के समय में अगर हम बात करें तो दुनिया में कोई ऐसा देश नहीं है जो बांग्लादेश के टेक्सटाइल इंडस्ट्री से आगे बढ़ सके।

इसका मतलब है कि बांग्लादेश के जितने भी पब्लिक है, बहुत ही इंगेज है, इस इंडस्ट्री के अंदर चाइना के बाद बांग्लादेश दूसरा सबसे बड़ा एक्सपोर्टर टेक्सटाइल का देश है,आप सभी को मैं बता दूं कि टैक्सटाइल ही एक ऐसी इंडस्ट्री है Bangladesh की जिस ने बांग्लादेश के इकोनॉमिक्स को बहुत ही तेजी से आगे बढ़ने में मदद किया है ।

आज के समय में बांग्लादेश के अंदर जितने भी लोग हैं, उनको जॉब बहुत ही जल्दी मिल जाती है, इसका मतलब यह है कि टेक्सटाइल इंडस्ट्री के वजह से लोगों को जॉब जल्दी मिल रहे हैं। क्योंकि यहां पर गवर्नमेंट ने बहुत ही ज्यादा काम किया है, आप अगर दुनिया के अंदर कहीं भी किसी भी मार्केट में कपड़ा खरीदने जाते हैं तो Made In Bangladesh के कपड़े जरूर मिलते है।

बांग्लादेश कैसे इतना बड़ा इंडस्ट्री बन गया टेक्सटाइल मार्केट का, जो की यह बांग्लादेश 20 से 30 साल पहले यह आजाद हुआ था।

बांग्लादेश के बारे में अगर बात करें तो बांग्लादेश में टैक्सटाइल इंडस्ट्री बहुत ही सालो से है, काफी सदियों से हम कह सकते है। बांग्लादेश बहुत ही ज्यादा डेवलप्ड हुआ वह पिछले 10 से 15 सालों के अंदर हुआ, 10 से 15 साल के अंदर ही एक्सपोर्ट ड्राइव billion-dollar इंडस्ट्री बन गई।

अगर हम बांग्लादेश के बारे में कहानी के रूप में शुरुआत से समझे तो 1971 के बाद बांग्लादेश में जब सरकार बनी थी। उनका नाम था Nurul Kader Khan यह एक गवर्नमेंट सेक्रेटरी भी थे और बांग्लादेश के बहुत ही बड़े देश भक्त थे। Nurul Kader Khan को यह मालूम था कि आने वाले समय में बांग्लादेश के अंदर बहुत ही सारे जॉब की क्राइसिस हो जाएगी। Nurul Kader Khan ने उसी टाइम अपना कदम बढ़ाया जो कि आज के समय में उसका रिजल्ट बहुत ही बड़ा हो गया है। Nurul Kader Khan ने सबसे पहले 1978 में करीब 130 लोगे को साउथ कोरिया भेज दिया।

उन्होंने लोगों से कहा कि आप सभी जाइए और सीखकर आइए कि वहां पर रेडीमेड और गारमेंट कैसे बनाया जाता हैं, ताकि बांग्लादेश भी Textilen के अंदर रेडीमेड गारमेंट बना करके दुनिया के अन्दर Export कर सके। यह सभी बातें उसी समय Nurul Kader Khan ने सोच लिया था। जब लोग साउथ कोरिया से वापस आए तो 130 लोगों में से बहुत सारे लोग दुनिया में एक्सपोर्ट शुरू कर दिए। Nurul Kader Khan ने 1982 में Desh Garments नाम का एक कंपनी शुरू कर देते हैं, जो की Export करना शुरू कर देती है रेडिमेंट Cloth को।

अगर हम 1980 की बात करें तो बांग्लादेश 3.5 मिलियन डॉलर Export कर रही थी टेक्सटाइल में, अगर हम उसी की बात 2007 में करे तो 10.7 मिलियन डॉलर बढ़कर हो जाता है। यहां पर जितने भी सारे Country है पूरी Country ने मिलकर के साथ दीया। कोई भी सरकार किसी भी इंडस्ट्री को नहीं बढ़ा सकती है क्योंकि वहां के पब्लिक का सबसे बड़ा साथ होता है। बांग्लादेश के जितने भी सारे पब्लिक है उसने एक साथ मिलकर बांग्लादेश के सरकार को बढ़ाने में बहुत ही ज्यादे मेहनत किया।

अगर आज के समय की बात करें तो बंगला देश में जितने भी एक्सपोर्ट होते हैं, उसमें से सबसे ज्यादा अर्थात 80% इसी टेक्सटाइल इंडस्ट्री का होता है। आज के समय में बांग्लादेश में 5000 से ज्यादा टेक्सटाइल है इंडस्ट्रीज के जहा पर सारे कपड़े बनते हैं और दुनिया के अंदर एक्सपोर्ट हुआ करते हैं।

बांग्लादेश के बारे में बात करे तो उसके पीछे बहुत ही बड़ा रीजन है, क्योंकि बांग्लादेश के लोग बहुत ही गरीब हुआ करते थे और वहा के लोगों ने काफी ज्यादा सस्ते में कपड़े को बनाना शुरू कर दिया। जब धीरे-धीरे बांग्लादेश के इंडस्ट्री आगे बढ़ने लगी तो यहां से जितने भी सारे सस्ते कपड़े दुनिया में जाने लगे तो बाकी देश के लोगों ने इस कपड़े को बहुत ही जल्दी एक्सेप्ट कर लिये। क्योंकि बांग्लादेश में टेक्सटाइल की क्वालिटी बहुत ही अच्छी होती है, यहां के कपड़े अन्य देशों को भी बहुत ही ज्यादा पसंद आता है।

आप सभी अपने अंदर सोच रहे होंगे कि बांग्लादेश इतना ज्यादा एक्सपोर्ट करता है तो यह किसको करता है, इसके बारे में मैं बता करू तो सबसे ज्यादा बांग्लादेश के दो बडे़ एंपोटर की Textile उसमें यूरोपियन यूनियन और यूनाइटेड स्टेट इन दोनों कंट्रीज में सबसे ज्यादा एक्सपोर्टर होते हैं। कुछ सालों के अंदर बहुत ही सारे नए Country आए हैं जो कि Bangladesh का अपना एयरपोर्ट बहुत ही ज्यादा बढ़ा दिया है टेक्सटाइल इंडस्ट्री का, इसमें से एक कंट्री हमारा भारत है।

भारत में भी रेडीमेड कपड़े के रेट पिछले 10 सालों से बहुत ही ज्यादा बढ़ गया है , आज के समय में बांग्लादेश के कपड़े इंपोर्ट होकर भारत में भी जाया करते हैं। हर साल 50% की ग्रोथ से बढ़ता ही जा रहा है यह इंडस्ट्रीज भारत के अंदर भी। चाइना ने भी अपने कंट्रीज को दो एक्सपोर्ट बढ़ाया क्योंकि अगर हम 2010 की बात करें तो चाइना भी 52 मिलियन डॉलर का टैक्सटाइल एक्सपोर्ट किया करते थे। लेकिन यह 2019 में बढ़कर 500 मिलियन डॉलर हो गया, क्योंकि यह 10 गुना का ग्रोथ, 9 से 10 सालों में ही कर रहा है।

अगर हम पिछले 1 साल की बात करें तो 2021 में जुलाई से, 2022 के जनवरी तक बांग्लादेश ने 30% ग्रोथ कर लिया है ये अपने ही इस इंडस्ट्री में, क्योंकि बांग्लादेश का ग्रोथ रेट बहुत ही तेजी से हो रहा है, दुनिया की कोई भी कंट्रीज बांग्लादेश की इस इंडस्ट्रीज से कम्पीट नहीं कर सकती है। आज के समय में चाइना के बाद दूसरा सबसे बड़े पेयर है इस इंडस्ट्री के अंदर, लेकिन बांग्लादेश के अंदर कुछ अनएक्सपेक्टेड हुआ था साल 2020 के अंदर वियतनाम देश ने बांग्लादेश को तीसरे नंबर पर कर दिया था।

सबसे बड़े एक्सपोर्टर के रूप में वियतनाम देश आ गया था, वियतनाम भी काफी सालों से टैक्सटाइल इंडस्ट्री में ही काम कर रहा है और आगे बढ़ने का लगातार कोशिश कर रहा है। बांग्लादेश पिछले 1 साल के अंदर फिर से दूसरे नंबर पर आ गया है और वियतनाम देश तीसरे नंबर पर है और चाइना पहले नंबर पर है, दुनिया के सबसे बड़े एक्सपोर्टर है टेक्सटाइल के अंदर। कई सारे ऐसे कंट्रीज है, जो बहुत ही तेजी से आगे बढ़ रही है, पहले बांग्लादेश स्पेन को सबसे ज्यादा एक्सपोर्ट किया करता था टेक्सटाइल , लेकीन अभी टर्की ने इनको पीछे कर दिया है।

टेक्सटाइल के अंदर में अगर हम बात करें तो इन सारे देशों ने अपने में बहुत ही ज्यादा कंपटीशन किया करते हैं। इंडिया भी बहुत ही ज्यादा कोशिश कर रहा है आगे बढ़ने के लिए, अगर हम आज के समय में बात करें तो बांग्लादेश पिछले 20 से 30 सालों से लगातार जो मेहनत किया है उसका रिजल्ट आज हम सभी को देखने को मिल रहा है। ऐसा मानना है कि बंगलादेश साल 2025 तक करीब 100 बिलियन डॉलर का एक्सपोर्ट करेगा टेक्सटाइल की दुनिया में, जो कि हम सभी के लिए बहुत ही बड़ा बात होगा।

आज के समय में आप सभी लोग सोच रहे होंगे कि पिछले 20 से 30 सालों में बांग्लादेश कैसे इतना तेजी से आगे बढ़ गया। उसके पीछे दो कारण है एक तो है गवर्नमेंट और एक है पब्लिक, जिन्होने इमानदारी से इस इंडस्ट्री में मिलजुल कर काम किया है।

edigitalhindi
इसे भी पढ़ें –

Leave a Comment

MPIN kya hota hai कैसे काम करता है और इसे कैसे प्राप्त करते है What is a computer Your struggle is the story of success