What is DTP? ( Desk Top Publishing ) DTP का इतिहास, लाभ और उपयोग

DTP का इतिहास, लाभ और उपयोग

What is DTP? हेलो दोस्तों आज हम जानेंगे DTP क्या है? DTP application के बारे में ? डीटीपी का इतिहास ? DTP का लाभ और DTP के उपयोग ? DTP के बारे में बताने से पहले मैं आप सभी को धन्यवाद देना चाहूंगा जो की डीटीपी के बारे में जानने के लिए हमारी वेबसाइट को ही चुना है आप सभी को हमारे वेबसाइट पर स्वागत है। DTP के बारे में पूरी जानकारी लेना चाहते हैं तो इस लेख को शुरू से लास्ट तक जरूर पढ़ें।

What is DTP
What is DTP

What is DTP ? डीटीपी क्या है ? DTP का Full From

DTP का Full From – Desk Top Publishing हैं। DTP एक Desk Top Publishing सॉफ्टवेयर है। यह तीन शब्दों से मिलकर बना है Desk, Top और Publishing. यह प्रकाशन (Publishing) कि एक आधुनिक तकनीकी है जिसका निर्माण James Davis ने 1983 में किया था।

DTP का अर्थ हैं कंप्यूटर के द्वारा कंपोजिंग (Composing) के काम करना। यहां पर Desk Top Publishing का अर्थ साफ शब्दों में कहे तो यहां पर Desk का अर्थ होता हैं मेज़ या Table, Top का अर्थ होता है के ऊपर और Publishing का अर्थ होता हैं किसी भी चीझ को तैयार करना या बनाना।

तो इस प्रकार अगर हम इन तीनों शब्दों को जोड़ दें तो डेस्क टॉप पब्लिशिंग का अर्थ हुआ किसी टेबल या मेज के ऊपर रखे हुए डिवाइस से किसी भी चीज को तैयार करना या डिजाइन करना ही DTP कहलाता है। अगर हम बहुत ही आसान शब्दों में बोले तो आज हम जो भी काम करते हैं वह सब काम कंप्यूटर के माध्यम से ही करते हैं,

तो इस तरह से डीटीपी का अर्थ हुआ कंप्यूटर के माध्यम से किसी भी डिजाइन को तैयार करना, उसमें एडिटिंग करना और प्रिंट करना ही डीटीपी कहलाता है। इसमें कंप्यूटर के टाइपिंग के द्वारा कंपोजिंग का पूरा काम करके पेज को लेजर प्रिंट के माध्यम से प्रिंट किया जाता है।

DTP Software (डीटीपी सॉफ्टवेयर)

DTP एक पैकेज है, जिसके अंतर्गत कई सॉफ्टवेयर आते हैं। जैसे-

  • Adobe Pagemaker
  • Adobe Photoshop
  • Adobe Flash
  • Corel Draw
  • Quarkxpress
  • Microsoft Office publisher
  • Microsoft Office PowerPoint
  • Microsoft Office Word

इन सभी सॉफ्टवेयर का प्रयोग अलग-अलग कार्यों को करने के लिए किया जाता है । जैसे आप किसी पेज पर डिजाइन करना चाहते है तो उसके लिए हम Pagemaker का प्रयोग करते हैं। यदि आप किसी फ़ोटो में एडिटिंग करना चाहते है तो उसके लिए हम Photoshop का प्रयोग करते हैं।

यदि आप मल्टीमीडिया या एनिमेशन से रिलेटेट काम करना चाहते है तो उसके लिए हम Adobe Flash का प्रयोग करते हैं। इसी के साथ-साथ यदि आप प्रेजेंटेशन बनाना चाहते है तो हम Powerpoint का प्रयोग करते हैं।

यदि आप Text से रिलेटेट डिजाइन करना चाहते है या Text से रिलेटेट कोई काम करना चाहते हैं तो उसके लिए हम MS Word ( Microsoft Office Word ) का प्रयोग करते हैं। इसी तरह से हम इन सभी सोफ्टवेयर का प्रयोग अलग-अलग कामों में करने के लिए इस्तेमाल करते हैं।

DTP का इतिहास ( History of DTP )

DTP की शुरुआत 1970 से की गई थी, इसके बाद 1984 में इसे व्यवसायिक रूप से पेश किया गया था। 1984 में सबसे पहले ऐप्पल मैकिंटोश ने पेश किया हुआ था। 1984 में ही हेवलेट-पैकार्ड ने एक लेजरजेट पेश किया था जो पहला डेस्कटॉप लेजर प्रिंटर था। 1985 में एडोब ने व्यवसायिक टाइपिंग के लिए एक Post स्क्रिप्ट तैयार किया हुआ था ।

1985 में ही एल्डस ने मैक के लिए Pagemaker develop किया जो पहला Desk Top Publishing Application था। जो आज भी है। 1985 Apple ने पोस्टस्क्रिप्ट को शामिल करने के लिए पहले डेस्कटॉप लेजर प्रिंटर को तैयार किया और 1987 में Windows platform के लिए PageMaker को तैयार किया गया।

DTP के लाभ ( Advantage of DTP )

ऐसे तो डीटीपी के बहुत सारे लाभ हैं जो पहले नंबर पर आता है-

Speed (गति)

पुराने समय में किसी भी बुक को तैयार करने में बहुत समय लगता था । इसी के साथ-साथ किसी भी बुक को तैयार करने के लिए हमें कुशल व्यक्ति की आवश्यकता होती थी, क्यों? क्योंकि किसी भी बुक को तैयार करना, डिजाइन करने के लिए, हमें एडिटिंग करने की जरूरत होती थी।

लेकिन आज के समय में डीटीपी के माध्यम से यह काम बहुत ही आसानी से और स्पीड में किया जा सकता है यदि हम Text में फॉर्मेटिंग करना चाहते हैं, फोटो में एडिटिंग करना चाहते हैं या फिर किसी भी टेक्स्ट इमेज को डिलीट करना चाहते हैं तो वह भी आसानी से कर सकते हैं।

Changes ( बदलाव )

इस सॉफ्टवेयर में बनाए गए किसी भी document, file या image में आप आसानी के साथ बदलाव कर सकते हैं। इसमें विभिन्न कामों को स्टोर कर सकते हैं जिसे किसी भी समय खोल कर उसमें बदलाव कर सकते हैं आपके द्वारा कोई भी किया गया बदलाव स्क्रीन पर दिखते हैं।

Page Formatting ( पेज फॉर्मेटिंग )

DTP के सॉफ्टवेयर में पेज फॉर्मेटिंग से रिलेटेड कई सारे टूल्स होते हैं जैसे टेक्स्ट, इमेज, क्लिप आर्ट, बॉर्डर, सिंबल इत्यादि। इसकी मदद से आप अपने पेज में आसानी से फॉर्मेटिंग कर सकते हैं।

Low Cost (कम लागत )

DTP के माध्यम से आप बहुत ही कम लागत में किसी भी डिजाइन को तैयार कर सकते हैं और उसे प्रिंट कर सकते हैं। DTP पैकेज के कारण कंपोजिंग की लागत बहुत कम हो गई है।

Various TOOL ( विभिन्न टूल्स )

TDP सोफ्टवेयर में बहुत सारे टूल्स होते हैं जैसे स्पेलिंग को चेक करना , फाइनड या रिप्लेस करना,( फाइंड मतलब किसी भी टेक्स्ट को खोजना और रिप्लेस मतलब किसी भी टेक्स्ट को रिप्लेस करना ।) कट करना, डिलेट करना, इन्सर्ट करना, इत्यादि बहुत ऐसे सारे टूल्स होते है जिनकी मदद से आप डीटीपी में अपने काम को आसानी से कर सकते हैं।

DTP का उपयोग ( uses of DTP )

दोस्तों हम अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में बहुत सारी चीज को देखते हैं जो प्रिंटिंग के फॉर्म में होते हैं जैसे – न्यूज़पेपर, बुक्स, मैगजीन, बिल बुक, विजिटिंग कार्ड, इनविटेशन कार्ड, कैलेंडर, पोस्ट कार्ड , पोस्टर , कार्यालय नोटिस इत्यादि यह सभी TDP के माध्यम से ही तैयार किये जाते है।

उम्मीद करते हैं कि आप सभी को आज का हमारा लेख बहुत ही पसंद आया होगा यदि पसंद आया है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें, आप सभी को बहुत-बहुत धन्यवाद।

इसे भी पढ़ें :- 101 Important full form of computer related words कंप्यूटर से संबंधित महत्वपूर्ण 101 शब्दों की फुल फार्म

Blogger Kaise Bane ब्लॉगर कैसे बने पुरी जानकारी हिंदी में ? How To Become a Blogger

Youtube Facts in hindi Youtube रोचक आश्चर्यजनक तथ्य

Rich Dad’s Cashflow Quadrant, Financial Freedom. रिच डैड का कैशफ़्लो क्वाड्रेंट, वित्तीय स्वतंत्रता

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top