What is SEO in Hindi SEO क्या होता है ? पूरी जानकारी हिंदी में

What is SEO in Hindi. SEO क्या होता है, SEO कितने प्रकार का होता है और SEO के कौन-कौन से फायदे हैं । यदि आप इन सभी के बारे में बिलकुल विस्तार से जानना चाहते हैं तोआप सभी इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े हैं । ताकि आप सभी को यह समझ में आ जाए की SEO क्या होता है और यह आपके वेबसाइट के लिए क्यों जरूरी होता है ।

What is SEO in Hindi

What is SEO in Hindi SEO क्या होता है ?

यदि हम बिल्कुल आसान भाषा में बताएं तो SEO ( Search Engine Optimization ) का मतलब होता है आपकी वेबसाइट को एक रैंक देना । SEO का मेन काम होता है आपकी वेबसाइट को गूगल सर्च इंजन , याहू सर्च इंजन और Bing Search Engine पर आपकी वेबसाइट का रैंकिंग निर्धारित करना ।

जैसे ही आप सभी अपनी वेबसाइट को गूगल वेबमास्टर टूल या फिर बिंग वेबमास्टर टूल पर सबमिट करते हैं तो आपकी वेबसाइट पर उस सभी सर्च इंजन का SEO रोबोटिक टूल आता है और वहां पर SEO का सभी एल्गोरिदम को चेक करता है जितना अच्छे से आपकी ब्लॉग या वेबसाइट पर SEO हुआ रहता है उसी के हिसाब से आपकी वेबसाइट को वह रैंकिंग देता है।

SEO का मेन काम होता है आपकी वेबसाइट को रैंकिंग देना या फिर आपकी वेबसाइट का रैंकिंग डिसाइड करना जिससे आपकी वेबसाइट किसी भी सर्च इंजन पर टॉप में सो करती है । वेबसाइट का SEO अच्छे तरीके से करने से उस वेबसाइट पर लंबे समय तक ट्रैफिक आता रहता है जिससे आपका काफी फायदा होता है ।

SEO कैसे काम करता है

SEO के कुछ सिंपल प्रोसेस होता है जिससे हो करके आपकी वेबसाइट या ब्लॉग या फिर वीडियो को गुजारना पड़ता है ।

1. Website Submit वेबसाइट सबमिट

जब हम कोई वेबसाइट बनाते हैं तो हमारा सबसे पहला काम होता है कि अपनी वेबसाइट को बनाने के तुरंत बाद उस वेबसाइट को सभी सर्च इंजन के वेबमास्टर टूल पर सबमिट करना जिससे सर्च इंजन को यह पता चलता है की इस नाम की वेबसाइट भी है ।

यदि हम अपनी वेबसाइट को किसी भी वेबमास्टर टूल में सबमिट नहीं करते हैं तो उसको यह पता नहीं चलता है कि इस नाम से भी कोई वेबसाइट होती है जिसकी वजह से जब कोई व्यक्ति गूगल पर सर्च करता है तो वह वेबसाइट हमें दिखाई नहीं देती है ।

इसलिए बहुत जरूरी होता है की आप अपनी वेबसाइट को जितने भी सर्च इंजन के वेबमास्टर टूल है उन सभी में सबमिट करना ताकि हमारी वेबसाइट SEO और अधिक इंप्रूव हो सके ।

2. वेबसाइट क्राउल

जैसे ही आप अपने वेबसाइट को Bing वेबमास्टर टूल पर सबमिट करते हैं तो वैसे ही जो SEO के रोबोटिक टूल आता है आपकी वेबसाइट को क्राउल करके अपने सरवर में इंडेक्स कर लेता है जिससे हमारी वेबसाइट जब कोई सर्च करता है तो वह दिखाई देता है ।

3. वेबसाइट इंडेक्सिंग

जब आप अपनी वेबसाइट को google वेबमास्टर टूल या Bing वेबमास्टर टूल में सबमिट कर देते हैं तो उसके बाद उसमें क्राउलिंग होता है और क्राउल करने के बाद से उस वेबसाइट को इंडेक्स कर दिया जाता है । जिससे आपकी वेबसाइट लोगों के सामने शो करती हैं और लोग क्लिक करके उस वेबसाइट पर विजिट करते हैं ।

4. वेबसाइट रैंकिंग

वेबसाइट सबमिशन, वेबसाइटक्राउलिंग और इंडेक्सिंग के बाद आपकी वेबसाइट की रैंकिंग निर्धारित की जाती है कि आपकी वेबसाइट को किस पेज पर और किस नंबर पर रखना है । जहां से विजिटर आपकी वेबसाइट को देख सकते हैं ।

Types of SEO

SEO 4 प्रकार का होता है इन्हीं चार प्रकार के माध्यम से किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट का SEO किया जाता है ।

Types of SEO in hindi

1.लोकल SEO

लोकल SEO में आप सभी अपने स्टोर या फिर किसी पर्टिकुलर जगह का SEO करते हैं । जब कोई विजिटर अपने मोबाइल में किसी लोकल बिजनेस के बारे में सर्च करता है जैसे amt near me , petrol pump near me, gym near me इत्यादि तो यहां पर लोकल SEO काम आता है ।

आप सभी ने Google My Business का नाम सुना होगा गूगल माय बिजनेस भी लोकल SEO पर बेस है । आप यदि कोई ऐसा टॉपिक सर्च करते हैं जहां पर आपको विजिट करना हो तो वह सारा काम गूगल माय बिजनेस के थ्रू ही होता है ।

2. On-Page SEO

On-page SEO जैसा कि नाम से ही लग रहा है की वेबसाइट के ऊपर किया जाता है । जब भी हम कोई पोस्ट लिखते हैं तो उस पोस्ट में टाइटल लिखते हैं यानी की यह पोस्ट किस बारे में है उस पोस्ट के अंदर हेडिंग यूज करते हैं और टैग यूज़ करते हैं यह सारे काम On-page SEO के अंतर्गत आता है ।

On-page SEO किसी भी वेबसाइट कि रैंकिंग के लिए बहुत जरूरी होता है । इसके माध्यम से ही गूगल समझ पाता है कि आपका यह पेज या पोस्ट किस बारे में है और तभी जाकर के वह पोस्ट या पेज गूगल पर रैंक करता है। इसलिए आपकी वेबसाइट के लिए On-page SEO करना बहुत जरूरी होता है ।

इसमें टाइटल, हेडिंग, slug और मेटा डिस्क्रिप्शन का बहुत बड़ा योगदान होता है । जब भी आप किसी भी तरीके का पेज या पोस्ट लिखें तो उसमें इन सभी बातों का विशेष ध्यान दें ताकी आपकी वेबसाइट गूगल की फर्स्ट पेज पर रैंक हो सके ।

3. Off Page SEO

Off Page SEO यह सभी काम वेबसाइट के बाहर किया जाता है । इसके अंतर्गत हम अपनी वेबसाइट के किसी पेज या पोस्ट को किसी अथॉरिटी वेबसाइट के पोस्ट या पेज के माध्यम से लिंक कर देते हैं जहां से हमारी वेबसाइट पर उस लिंक के माध्यम से ट्रैफिक आने लगता है जिससे हमारे वेबसाइट के पोस्ट बहुत फास्ट गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक कर जाते हैं ।

जब हम अपने किसी पे पेज या पोस्ट को किसी अथॉरिटी वेबसाइट की पेज या पोस्ट से लिंक करते हैं तो उसे लिंक बिल्डिंग या बैकलिंक बनाना कहते हैं और यह हमारी वेबसाइट के SEO के लिए बहुत अधिक जरूरी होता है ।

आज के समय में लिंक बिल्डिंग या बैकलिंक के बिना किसी भी वेबसाइट को रैंक करना बहुत मुश्किल है । यदि आप अपने किसी भी वेबसाइट की पोस्ट को रैंक करना चाहते हैं तो आपको लिंक बिल्डिंग करना ही पड़ेगा ।

लिंक बिल्डिंग करने की बहुत सारे तरीके है जिस तरीकों को यूज करके आप सभी अपनी वेबसाइट के लिए लिंक बिल्डिंग कर सकते हैं ।

1. सोशल मीडिया प्रोफाइल लिंक

जब आपकी वेबसाइट बिल्कुल नयी होती है तो उस समय आपको अपने वेबसाइट के हर पोस्ट को अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर करना चाहिए जहां से आपकी वेबसाइट को इनिशियल बूस्ट मिल सके ।

सोशल मीडिया प्रोफाइल लिंक की मदद से भी आप अपने वेबसाइट के लिए बैकलिंक बना सकते हैं । इसके लिए जितने भी पॉपुलर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है उन सभी पर आप अपने वेबसाइट के नाम से एक प्रोफाइल बना सकते हैं और वहां पर अपनी वेबसाइट का लिंक शेयर कर सकते हैं ।

Off Page SEO

2. Web 2.0

इस समय बहुत सारे ऐसा प्लेटफार्म है जहां पर आप सभी अपने वेबसाइट के सब्डोमेन के नाम के साथ में नया वेबसाइट बना सकते हैं और उस वेबसाइट पर अपने ब्लॉग पोस्ट को शेयर करके उस ब्लॉक पोस्ट में अपने किसी पोस्ट का लिंक दे सकते हैं । ऐसे करके आप सभी अपनी वेबसाइट के लिए बहुत ही अच्छा लिंक बना सकते हैं जिससे आपकी वेबसाइट बहुत ही कम समय के अंदर गूगल में रैंक हो जाएगी ।

उदाहरण- blogger.com, wix.com, wordpress.com, weebly.com और भी ऐसे बहुत सारे web 2.0 वेबसाइट है जहां पर आप सभी यह काम बहुत ही आसानी के साथ कर सकते हैं ।

3. गेस्ट पोस्टिंग

किसी भी वेबसाइट को सबसे कम समय के अंदर गूगल की फर्स्ट पेज पर रैंक करने के लिए गेस्ट पोस्टिंग का बहुत बड़ा योगदान है । यदि आप गेस्ट पोस्टिंग करते हैं तो इसके माध्यम से आप अपने वेबसाइट को कुछ ही हफ्तों के अंदर है गूगल के फर्स्ट पेज पर ला सकते हैं ।

guest posting

यहां पर आपके मन में एक सवाल आ सकता है गेस्ट पोस्टिंग क्या होता है तो मैं आपको बता दूँ की गेस्ट पोस्टिंग वह होता है की जब हम किसी अथॉरिटी वेबसाइट के लिए मतलब कि ऐसी वेबसाइट जो पहले से ही रैंक है वैसी वेबसाइट के लिए पोस्ट लिखते हैं और उस पोस्ट में अपने किसी पोस्ट को लिंक कर देते हैं और वो पोस्ट उस अथॉरिटी वेबसाइट पर पब्लिश हो जाती है तो उसी को गेस्ट पोस्ट बोलते हैं ।

गेस्ट पोस्ट करने के लिए आप सभी को उस वेबसाइट के एडमिन से कांटेक्ट करना पड़ता है । यह काम फ्री और paid दोनों तरीके से किया जा सकता है ।

4. टेक्निकल SEO

वेबसाइट के रैंकिंग में टेक्निकल SEO सबसे बड़ा रोल होता है क्योंकि इसके बिना कोई भी वेबसाइट चाहे कितनी भी अच्छी क्यों ना हो कभी भी किसी भी सर्च इंजन पर शो नहीं कर सकती ।

जब हम कोई वेबसाइट बनाते हैं तो हमारा सबसे पहला काम है अपनी वेबसाइट का टेक्निकल SEO करना होता है । मतलब की अपने वेबसाइट को सभी वेबमास्टर टूल पर सबमिट करना होता है और उस वेबसाइट का एक्सएमएल साइटमैप ( xml sitemap ) को Generate करके web master tool पर भी सबमिट करना पड़ता है । इससे सर्च इंजन को आपकी वेबसाइट के बारे में पता चलता है ।

आप यह सारा काम किसी भी SEO plugin जैसे Yoast SEO या फिर Rank Math के माध्यम से भी कर सकते हैं । जब आप अपनी वेबसाइट का टेक्निकल SEO कर लेते हैं तो आपकी वेबसाइट की हर पोस्ट बहुत ही कम समय के अंदर ही गूगल में रैंक करने लगता है ।

SEO करने के फायदे

यदि आपने SEO के सारे काम किए हुए हैं तो इसके बहुत अधिक फायदे हैं जो आपको जीवन भर लाभ देते रहेंगे ।

1. हाई ट्रेफिक

जब आपकी वेबसाइट गूगल में रैंक कर रहे होती है फर्स्ट , सेकंड या फिर थर्ड नंबर पर तो वहां से आपकी वेबसाइट पर बहुत अधिक ट्रैफिक आने के चांस होता है । क्योंकि दुनिया के 90% से अधिक लोग पहले, दूसरे और तीसरे नंबर वाली वेबसाइट पर ही क्लिक करते हैं ।

यदि मान लीजये की आपकी कोई वेबसाइट फर्स्ट या सेकंड पोजिशन पर रैंक करती है तो वहां से आपकी वेबसाइट पर महीने के लाखों में ट्रैफिक आ सकती है जिससे आपका बिजनेस या ब्लॉग बहुत फास्ट ग्रो कर जाएगा ।

2. वेबसाइट ब्रांडिंग

मान लीजिए की आप की वेबसाइट पहले या दूसरे नंबर पर रैंक कर रही है तो वहां आपकी वेबसाइट पर लाखों में ट्रैफिक आएगा और लोगों के बीच में आपकी वेबसाइट का बहुत ही अच्छा खासा ब्रांडिंग हो जाएगा ।

इससे आपका बिजनेस बहुत तेजी से बढ़ने लगता है । आप अपनी वेबसाइट पर जो भी प्रोडक्ट्स या सर्विस बेचेत हैं तो उन सभी के बारे में भी उनलोगों को बहुत अधिक जानकारी मिलने लगती है । जिससे आपका बहुत अधिक फायदा होता है ।

3. लो कास्ट ट्रैफिक

आपकी वेबसाइट यदि फर्स्ट पोजीशन पर रैंक करती है तो इससे आपका बहुत अधिक पैसा बच जाता है । यदि आप अपनी वेबसाइट पर ट्राफिक लाने के लिए paid मार्केटिंग का सहारा लेते हैं जैसे गूगल एडवर्ड या फेसबुक का तो वहां पर आपको बहुत अधिक पैसा पे करना पड़ता है लेकिन यदि आप अपने वेबसाइट का अच्छे तरीके से SEO कर देते हैं तो आपका सारा पैसा बच जाता है ।

4. बेटर ROI ( Return on Investment )

यदि आप की वेबसाइट नंबर वन पोजीशन पर रैंक कर रही है और आपकी वेबसाइट पर वहां से डेली के लाखों विजिटर्स आ रहे हैं और आपको बिजनेस दे रहे हैं या आप कि सर्विस यूज कर रहे हैं या फिर आपकी प्रोडक्ट यूज कर रहे हैं तो यहां से आपको बहुत ही अच्छा रिटर्न ओन इन्वेस्टमेंट मिल जाता है ।

5. बिजनेस ग्रोथ

आपकी वेबसाइट अच्छे पोजीशन पर रैंक कर रही है तो वहां से आपका सबसे बड़ा फायदा होता है आपके बिजनेस का । आपका business कितना भी लो हो लेकिन आपकी वेबसाइट फर्स्ट पेज पर फर्स्ट नंबर पर आ जाती है तो वहां से आपके बिजनेस का बहुत फास्ट ग्रोथ बढ़ने लगता है ।

बेटर ROI ( Return on Investment )

SEO का बेसिक नियम

कौन-कौन सी ऐसी बातें हैं जिसको आप को ध्यान में रखना है जिससे आपकी वेबसाइट एक अच्छी ब्रांड बन सके और गूगल के फर्स्ट पेज के फर्स्ट नंबर पर रैंक कर सके ।

1. Domain Name

अपना डोमेन नेम खरीदते समय एक बात का विशेष ध्यान दिया जाता है कि आप हमेशा वही डोमेन नेम खरीदें जो आपके बिजनेस से जुड़ा हुआ हो । कोशिश करें की आपके डोमेन नेम में आपके बिजनेस से जुड़ा भी कीबोर्ड आ जाए तो वह रैंकिंग के लिए काफी यूज़फुल होता है ।

Select Your Domain Name

2. होस्टिंग

किसी भी वेबसाइट को हमेशा टॉप पर बने रहने के लिए उस वेबसाइट का होस्टिंग अच्छा होना बहुत ही अधिक जरूरी है क्योंकि यदि आपकी वेबसाइट का होस्टिंग अच्छा नहीं है तो जो भी ट्रैफिक आएगी तो वह बैक करके वापस चली जाएगी इससे आपका बाउंस रेट बढ़ जाएगा जिससे आपके वेबसाइट का रैंकिंग बहुत अधिक डाउन हो जाएगी ।

hosting

इसलिए बहुत अधिक जरूरी है आप अपनी वेबसाइट के लिए हमेशा एक अच्छा होस्टिंग कंपनी से अच्छा वाला प्लान होस्टिंग खरीदें ताकि जब आपकी वेबसाइट पर अधिक ट्रैफिक आये तो भी आपकी वेबसाइट डाउन ना हो और आपकी वेबसाइट का SEO हो हमेशा बना रहे ।

3. लोकल SEO

यदि आपका वेबसाइट किसी लोकल स्टोर यस सर्विस प्रोवाइडर वाली है तो यह बहुत जरूरी है की आप आपने वेबसाइट का लोकल SEO बहुत अच्छे तरीके से करें । ताकि आपकी वेबसाइट का अच्छी तरह SEO हो सके । इसके लिए आप सभी गूगल माय बिजनेस एप्लीकेशन का यूज कर सकते हैं जिससे वेबसाइट पर लोकल SEO बहुत ही अधिक इंप्रूव हो जाएगा ।

4. वेबसाइट सबमिशन

अपनी वेबसाइट को पूरी तरीके से रेडी करने के बाद गूगल वेबमास्टर टूल या फिर बिंग वेबमास्टर टूल में जरूर सबमिट करें ताकि आपके वेबसाइट का अच्छी तरह SEO हो सके । जब अपनी वेबसाइट को वेबमास्टर टूल में सबमिट कर देते हैं तो उस वेबमास्टर टूल का रोबोटिक टूल आपकी वेबसाइट को उसके सर्च इंजन में ले जा कर रख देता है जिससे की वेबसाइट विजिटर को शो करने लगती है ।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने सीखा की SEO क्या होता है ( What is SEO in Hindi ) , SEO कितने प्रकार का होता है और SEO के बेसिक रूल क्या होता है । यदि आप सभी को आज का हमारा यह लेख आप सभी लोगों को पसंद आया हो तो कृपया करके आप सभी हमारे इस लेख को अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें ताकि वह लोग भी SEO के बारे में विस्तार से जान सके । यदि आपके मन में कुछ सवाल या कुछ सुझाव है तो आप मुझे कमेंट कर सकते हैं ।

इसे भी पढ़ें –

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top