What is UPI Pin in Hindi UPI पिन क्या होता है पूरी जानकारी हिंदी में

UPI Pin क्या होता है ( What is upi pin in Hindi ) और हम अपना UPI Pin कैसे बना सकते हैं ? यदि आपको इसके बारे में पता नहीं है तो आप आप हमारे इस लेख को शुरू से लेकर अंत तक पढ़ सकते हैं । क्योंकि इस लेख में हमने बताया है की UPI Pin क्या होता है ( What is upi pin ) और हम UPI Pin कैसे बना सकते हैं ।

What is UPI यूपीआई क्या होता है

यूपीआई ( UPI ) का फुल फॉर्म होता है Unified Payments Interface । UPI एक प्रकार का रियल टाइम इंस्टेंट पेमेंट सिस्टम है जिसको NPCI ( National Payments Corporation on India ) ने विकसित किया है । UPI के माध्यम से आप एक बैंक से दूसरे बैंक में बहुत ही आसानी के साथ पैसे का लेन-देन कर सकते हैं ।

What is upi Pin in Hindi
  • UPI का full फॉर्म Unified Payments Interface होता है ।
  • NPCI का full फॉर्म National Payments Corporation on India होता है ।

UPI ( Unified Payments Interface ) को आरबीआई मतलब की रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा रेगुलेट किया जाता है । यह किसी भी तरीके के पेमेंट को तुरंत ही एक बैंक खाता से दूसरे बैंक खाता में ट्रांसफर कर देता है । ट्रांसफर करने की कुछ समय के बाद ही पैसा सामने वाले व्यक्ति के बैंक खाते में ट्रांसफर हो जाता है । यह सारा काम हम अपने मोबाइल फोन का प्रयोग करके कर सकते हैं जिसे हम UPI ( Unified Payments Interface ) कहते हैं।

इस समय भारत में जितने भी बैंक है उन सभी बैंक में UPI ( Unified Payments Interface ) सर्विस उपलब्ध है जिनका यूज़ करके आप सभी घर बैठे अपने मोबाइल के माध्यम से पैसे का लेन देन बहुत ही कम समय के अंदर और बहुत ही आसानी से कर सकते हैं ।

जैसे कि आपको पता है की हर बैंक का अपना नेट बैंकिंग सुविधा उपलब्ध है लेकिन नेट बैंकिंग के अंदर इतने सारे पासवर्ड का झमेला होता है जिसकी वजह से नेट बैंकिंग सभी लोग यूज़ नहीं कर पाते हैं । इसी वजह से नेट बैंकिंग आज भी पूरी तरीके से सफल नहीं हो पाई ।

आप चाहे किसी भी बैंक का नेट बैंकिंग सिस्टम देख लीजिए तो आपको पता चल जाएगा नेट बैंकिंग यूज करना कितना डिफिकल्ट काम है । इसके अंदर साइन इन पासवर्ड फिर साइन ऑन पासवर्ड और ट्रांजैक्शन पासवर्ड इत्यादि शामिल होता है । जिसकी वजह से यूजर को बहुत सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है ।

इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए UPI ( Unified Payments Interface ) का अविष्कार किया गया है । UPI के बहुत सारे फायदे हैं ।

जिस तरीके से आप किसी भी बैंक का एटीएम को यूज करके ट्रांजैक्शन करते हैं ठीक उसी तरीके से जब आपके मोबाइल फोन में एक बार यूपीआई पिन सेट हो जाता है तो आप उसकी मदद से बहुत ही आसानी से किसी भी तरीके का लेन-देन कर सकते हैं । आप अपनी इच्छा के अनुसार अपने UPI Pin को बदल भी सकते हैं ।

UPI के माध्यम से आप किसी भी बैंक से अपने बैंक खाते में पैसा मंगवा सकते हैं और अपने बैंक खाते से दूसरे किसी बैंक खाते में बहुत ही कम समय के अंदर पैसे को भेज भी सकते हैं सिर्फ एक वर्चुअल पेमेंट ऐड्रेस ( VPA ) का यूज करके।

  • VPA का full फॉर्म Vertual Payments Address होता है ।

वर्चुअल पेमेंट ऐड्रेस यह आपका एक प्रकार का यूनिक एड्रेस होता है । जिससे आपकी पहचान होती है । जिस प्रकार से आपका मोबाइल नंबर किसी और का नहीं हो सकता या फिर आपका ईमेल आईडी किसी और का नहीं हो सकता । वर्चुअल पेमेंट ऐड्रेस भी बिल्कुल ऐसा ही होता है ।

यूपीआई आईडी या फिर VPA ( वर्चुअल पेमेंट ऐड्रेस ) यह दोनों का मतलब एक ही होता है । यूपीआई आईडी या VPA दो व्यक्तियों का बिल्कुल सेम नहीं हो सकता है।

इस समय जितने भी लेन-देन से जुड़ी एप्लीकेशन है वे सभी एप्लीकेशन यूपीआई इनेबल है ।

उदाहरण-

आपका मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी

इसमें जिस भी एप्लीकेशन के माध्यम से आप किसी से यूपीआई आईडी ( UPI ID ) के द्वारा पैसा अपने खाते में मंगवाना चाहते हैं तो आप केवल अपना यूपीआई आईडी ( UPI ID ) के जरिये पेमेंट मंगा सकते हैं । इसमें आपको किसी भी तरीके का बैंक खाता या फिर आईएफएससी कोड की जरूरत नहीं पड़ती है ।

यूपीआई का तीसरा सबसे बड़ा फायदा होता है कि आप सभी इसके माध्यम से केवल मोबाइल नंबर की मदत से किसी को भी मोबाइल के माध्यम से पैसा भेज सकते हैं । इसमें आपको उसके बैंक अकाउंट नाम और यूपीआई आईडी की भी जरूरत नहीं पड़ती है ।

ऐसी स्थिति में आपके मन में एक सवाल आ सकता है की एक ही मोबाइल नंबर कई बैंक खाते में रजिस्टर्ड है तो पैसा भेजने पर किस खाते में पैसा जाएगा तो इसका सिंपल सा जवाब है उस समय आपके उस एप्लीकेशन में जो भी प्राइमरी अकाउंट सेट होगा उसी के अंदर पैसा जाएगा ।

यदि आप बैंक अकाउंट और आईएफएससी कोड के माध्यम से किसी को पैसा भेजना चाहता है तो भी आप यूपीआई के द्वारा बहुत ही आसानी के साथ में भेज सकते हैं । जैसे कि नेट बैंकिंग द्वारा किया जाता है ।

अगर आप के पास में केवल आधार नंबर है और वह आधार नंबर बैंक से रजिस्टर्ड है तो भी आप यूपीआई आईडी का यूज करके बहुत ही आसानी के साथ उसके खाते में भेज सकते हैं ।

आपने आजकल बहुत सारी दुकान शोरूम और छोटे-छोटे दुकान पर भी देखा होगा की क्यूआर कोड ( QR Code ) लगा रहता है बस आप उसको स्कैन करके कुछ सेकेंड के अंदर ही पैसा भेज सकते हैं ।

What is upi pin यूपीआई पिन क्या होता है

यूपीआई पिन Google Pay, Phonepe, Bhim, amazon pay यदि हम इन सभी एप्लीकेशन पर अपना बैंक अकाउंट जोड़कर यूपीआई आईडी बनाते हैं तो उस समय उस एप्लीकेशन से लेन-देन करने के लिए हमें एक यूपीआई पिन ( upi pin ) बनाना पड़ता है जिसको यूज करके हम अपने खाते से लेन-देन करते हैं उसी को यूपीआई पिन ( upi pin ) कहते हैं ।

अलग-अलग बैंक के हिसाब से अलग-अलग यूपीआई पिन होते हैं । किसी-किसी बैंक का यूपीआई पिन 4 अंक के होते हैं और किसी किसी बैंक के यूपीआई पिन 6 अंक के भी होते हैं । जिस तरीके से एटीएम का पिन होता है जिसका यूज़ करके हम एटीएम मशीन से पैसा निकालते हैं ठीक उसी तरीके से यूपीआई का यूज करके लेन-देन करने के लिए हमें यूपीआई पिन की आवश्यकता होती है ।

यूपीआई पिन सभी एप्लीकेशन में एक ही कार्य करता है । जैसे Google Pay, Phonepe, Bhim, amazon pay इत्यादि पर । जब हम अपने बैंक का एक बार यूपीआई पिन बना लेते हैं तो उस यूपीआई पिन का यूज करके हम हर एप्लीकेशन जिसमें भी यूपीआई सपोर्ट होती है उसमें लेन-देन कर सकते हैं ।

How to Create UPI Pin यूपीआई पिन कैसे बनाएं

यूपीआई पिन बनाने के लिए जो भी यूपीआई इनेबल एप्लीकेशन है आप उसका इस्तेमाल कर सकते हैं और उसके माध्यम से बहुत ही आसानी के साथ अपना यूपीआई पिन बना सकते हैं ।

सबसे पहले आप अपने मोबाइल में वो एप्लीकेशन इंस्टॉल कीजिए जिस एप्लीकेशन के माध्यम से आप करना चाहते हो । एप्लीकेशन इंस्टॉल होने के बाद आप उसमें अपना खाता जोड़िए इसके लिए अपने डेबिट कार्ड का लास्ट 4 अंक का इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे ही खाता जोड़ेंगे आपकी रजिस्टर्ड नंबर को वेरीफाई करेगा जब आपका नंबर वेरीफाई हो जाएगा तो अपका खाता उस एप्लीकेशन से सफलता पूर्वक जुड़ जाएगा ।

जब आपका खाता उस एप्लीकेशन से जुड़ जाएगा तो वहां पर आपको सेट यूपीआई पिन का ऑप्शन दिखाई देगा जिस पर क्लिक करके आप अपना मनचाहा यूपीआई पिन सेलेक्ट कर सकते हैं और उसका इस्तेमाल आप अपना लेन-देन करने के लिए कर सकते हैं ।

यूपीआई पिन बनाते समय एक बात का विशेष ध्यान दें की यूपीआई पिन थोड़ा डिफरेंट होना चाहिए ताकि कोई और उसको हैक ना कर पाए । यूपीआई पिन बनाने के बाद आप उसको कहीं नोट करके रख लें ताकि आप भविष्य में यदि भूल जाएँ तो आप उस का यूज करके बिना किसी दिक्कत का लेन-देन कर सकें ।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने सीखा यूपीआई क्या होता है ( what is upi ) , यूपीआई पिन क्या होता है ( What is upi pin in Hindi ) और हम अपने मोबाइल से यूपीआई पिन कैसे बना सकते हैं ( How to Create UPI Pin ) और यूपीआई पिन के कौन-कौन से फायदे होते हैं । मुझे पूरा उम्मीद है कि आप सभी को हमारा यह लेख बहुत पसंद आया होगा यदि आप सभी को हमारा यह लेख पसंद आया हो तो कृपया करके आप सभी हमारे इस लेख को अपने सभी दोस्तों के साथ में शेयर जरूर करें ताकि वह लोग भी यह जान सके की यूपीआई क्या होता है और यूपीआई के फायदे क्या क्या है ।

इसे भी पढ़ें

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद ।

2 thoughts on “What is UPI Pin in Hindi UPI पिन क्या होता है पूरी जानकारी हिंदी में”

  1. Pingback: 9 Signs of an Intelligent Personबुद्धिमान व्यक्ति की पहचान.......

  2. Pingback: Direct Selling 2021 में मोबाइल से घर बैठे लाखों लोगों की ज्वाइनिंग कैसे करें | Digital Network Marketing Tips

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top